Home > सेहत > फूड प्वॉइजनिंग के दौरान खाएं यह सब, दोबारा नहीं छू पाएगी बीमारीं

फूड प्वॉइजनिंग के दौरान खाएं यह सब, दोबारा नहीं छू पाएगी बीमारीं

नई दिल्ली : लाइफस्टाइल में बदलाव के कारण आज के ज्यादातर युवा जंक फूड पर डिपेंड हो गए हैं. जंक फूड पर निर्भर रहने के कारण आज कल लोगों में फूड प्वॉइजनिंग की समस्या बढ़ रही है. खाने-पीने के माध्यम से शरीर में जब बैक्टीरिया प्रवेश कर जाते हैं तो ऐसे में फूड प्वॉइनजिंग की समस्या जन्म लेती है. ज्यादातर मामलों में फूड प्वॉइजनिंग की समस्या उस वक्त जन्म लेती है जब मनुष्य के शरीर में रोग प्रतिरोध क्षमता कम हो जाती है. वर्ष में एक या दो बार अगर शरीर को फूड प्वॉइजनिंग की समस्या से गुजरना पड़े तो ठीक है लेकिन अगर आपको बार-बार यह समस्या घेर रही है तो आपको सोचने की जरूरत है.

खान-पान व इससे संबंधित चीजों को लेकर बहुत सावधानी बरतनी चाहिए. इसके लिए खुले में खाना खाने, गंदे पानी का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए. कई  बार दवाई लेने से फूड प्वॉइनजिंग की समस्या से निजात मिल जाता है, लेकिन आप चाहते हैं कि इस समस्या से आपको सदैव के लिए छुटकारा मिल जाए तो आप कुछ घरेलू और प्राकृतिक उपाए अपना सकते हैं.

अदरक : अदरक को गर्म पदार्थ में गिना जाता है यह पाचन तंत्र की समस्या काफी हद तक राहत दिलाता है. फूड प्वॉइजनिंग की समस्या से राहत पाने के लिए आप अदरक की चाय पिएं. बहुत ही कम लोगों को यह बात पता होती है कि अदरक पेट की आंतों में उन बैक्टीरियाओं को बढने से रोकता है जो फूड प्वॉइजनिंग की समस्या के लिए जिम्मेदार मानी जाती है.

पानी : जब हम अपने शरीर की क्षमता से ज्यादा जंक फूड खाने लगते हैं तो फूड प्वॉइजनिंग की समस्या आती है. इस समस्या से बचने के लिए आप जितनी अधिक मात्रा में हो सके पानी का सेवन करिए. जहां तक संभव हो गर्म पानी को छानकार पिएं. यह न सिर्फ शरीर में विषाक्त तत्वों की सांद्रता कम करता है बल्कि शरीर पर पड़ने वाले दुष्प्रभावों को भी कम करता है.

जीरा : भारतीय व्यंजनों में जीरे का इस्तेमाल खाने को स्वादिष्ट और सुंगधित बनाने के लिए किया जाता है. रोजाना एक चम्मच जीरे को पीसकर खाने से आपको फूड प्वॉइजनिंग की समस्या से छुटकारा मिल सकता है. जीरा आपकी पाचन क्रिया के साथ आंत में होने वाली सूजन को ठीक करने में सहायक माना जाता है.

केला : डायरिया और कब्ज के इलाज में केले का इस्तेमाल बेहद लाभकारी माना जाता है. केला एक ऐसा फल है, जिसका पाचन काफी आसान होता है. बहुत से लोगों को यह बात मालूम नहीं होगी कि केला गुदा की चिकनाई में मदद करता है. फूड प्वॉइजनिंग की समस्या से जूझ रहे लोगों के लिए केफा काफी लाभकारी फल माना जाता है. फूड प्वाइजनिंग की समस्या के दौरान केले का सेवन करने से पहले इस बात का ध्यान रखिए की दो केले से ज्यादा ना खाएं. अगर आप दो केले से ज्यादा का सेवन करते हैं तो आप में डायरिया का खतरा बढ़ सकता है.

error: Content is protected !!