बजट सत्र 2018 :प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा विपक्षी दलों ने जो सुझाव दिए हैं, उन पर गंभीरता से विचार किया जाएगा

0
137

नई दिल्ली :संसद बजट सत्र शुरू होने से पहले बुलाई सर्वदलीय बैठक में सरकार ने विपक्षी दलों से सत्र को सफल बनाने पर चर्चा की और उनसे सुझाव मांगे. बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आम बजट के लिए यह सत्र बहुत ही महत्वपूर्ण है और इस सत्र को सफल बनाने के लिए विपक्षी दलों ने जो सुझाव दिए हैं, उन पर गंभीरता से विचार किया जाएगा. उन्होंने कहा कि विकास के लिए व्यवस्था बदलने की जरूरत है. संसद में चर्चा के दौरान राजनीति आती है. इसलिए विकास के मुद्दों पर सभी दलों को राजनीति से ऊपर उठकर चर्चा करनी चाहिए.

तीन तलाक पर उम्मीद
संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने बैठक के बारे में बताते हुए कहा कि सभी दलों ने सत्र को सफल बनाने के लिए अपने-अपने सुझाव दिए हैं. सरकार इन सुझावों पर चर्चा कर रही है. तीन तलाक बिल पर उन्होंने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि इस सत्र में तीन तलाक बिल राज्यसभा में भी पारित हो जाएगा. उन्होंने कहा कि वे खुद और उनके साथी इस मुद्दे पर पार्टियों का समझाने का भरपूर प्रयास करेंगे और उन्हें उम्मीद है कि जीएसटी की तरह यह बिल भी सर्वसहमति से सदन में पास हो जाएगा.

JDU ने सांसद कोटा खत्म करने की मांग की
जनता दल (यू) के नेता हरीवंश नारायण सिंह ने बैठक के बारे में बताया कि हमने देश के गंभीर मुद्दों पर चर्चा की. जेडी (यू) ने शिक्षा और अन्य क्षेत्रों से लंबित मुद्दों पर चर्चा की. उन्होंने बताया कि पार्टी ने स्कूलों में प्रवेश पर सांसदों के कोटे और सांसद फंड को खत्म करने का सुझाव दिया है.

RJD ने उठाया दलित दमन का मुद्दा

आरजेडी नेता जयप्रकाश नारायण यादव ने बताया कि देश में बेरोजगारी बढ़ रही है. देश में शांति और सद्भावना खत्म हो रही है, हिंसा फैल रही है. राष्ट्र की एकता खतरे में है. दलितों का दमन किया जा रहा है. पार्टी ने इन मुद्दों को उठाया है. उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी सत्र में किसानों के मुद्दे भी उठाएगी.

लोकसभा अध्यक्ष ने बुलाई बैठक
प्रधानमंत्री के बाद लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने भी सर्वदलीय बैठक बुलाई है. इस बैठक में प्रधानमंत्री समेत सभी पार्टियों के प्रमुख नेता भाग ले रहे हैं. बैठक के बाद रात्रि भोज का भी आयोजन किया गया है. इस बैठक में भी सत्र को सफलतापूर्वक संपन्न कराने पर चर्चा की जा रही है.
https://twitter.com/ANI/status/957619226935664640
केंद्रीय बजट एक फरवरी को संसद में पेश किया जाएगा. 9 फरवरी से सत्र में अवकाश घोषित होगा. बजट सत्र का दूसरा चरण पांच मार्च से शुरू होगा, जो छह अप्रैल तक चलेगा. अभी तक 28 फरवरी को बजट पेश किया जाता था एवं रेल बजट को अलग से पेश किया जाता था, लेकिन नरेंद्र मोदी सरकार ने साल 2017 में इस चलन में बदलावा करते हुए इसकी तिथि बदलते हुए इसकी तारीख 1 फरवरी कर दी थी. इसके साथ ही सरकार ने एक बड़ा बदलाव करते हुए रेल बजट को मुख्य बजट में शामिल करने का फैसला किया था.