जम्मू कश्मीर विधानसभा में BJP विधायकों ने लगाए पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे

0
40

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर विधानसभा में शनिवार को बीजेपी विधायकों ने पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाए. इसके बाद सदन की कार्यवाही 15 मिनट के लिए स्थगित कर दी गई. कश्मीर के सुंजुवान मिलिट्री कैंप पर शनिवार तड़के हुए हमले पर उपमुख्यमंत्री निर्मल सिंह ने कहा कि ये पाकिस्तानी आतंकी हैं. सुरक्षाकर्मियों ने चारों तरफ से इन्हें घेर लिया है, जल्द ही इन्हें ढेर कर दिया जाएगा. विधानसभा में बीजेपी विधायकों ने रोहिंग्या मुसलमानों का भी मुद्दा उठाया. बीजेपी विधायक विक्रम रंधावा ने बताया कि विधानसभा में जम्मू के आसपास रहने वाले बांग्लादेशियों और रोहिंग्या का मुद्दा भी उठा. कहा कि रोहिंग्या की तादाद बढ़ती जा रही है. अगर उन्हें नहीं रोका गया तो वे आतंकी संगठन की तरह काम करने लगेंगे. हो सकता है कि वे आतंकियों को पनाह दें.

जम्मू एवं कश्मीर : विपक्ष ने विधानसभा की कार्यवाही बाधित की
शुक्रवार को विपक्षी नेशनल कांफ्रेंस (एनसी) के विधायकों ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से नियंत्रण रेखा (एलओसी) व अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर सीमा पार से गोलीबारी पर बयान देने की मांग को लेकर विधानसभा की कार्यवाही बाधित की. विधानसभा की कार्यवाही के शुरू होने के साथ ही एनसी के वरिष्ठ नेता मियां अल्ताफ व अली मोहम्मद सागर ने अपनी मांगों को रखा.

उन्होंने पुंछ जिले के मेंढर में पाकिस्तान द्वारा संघर्ष विराम उल्लंघन में गुरुवार को एक महिला की मौत को लेकर विरोध जताया. सदस्यों ने विधानसभा अध्यक्ष से हस्तक्षेप की मांग की और सीमा पर जारी गोलीबारी को लेकर महबूबा मुफ्ती से बयान देने की मांग की.

जम्मू एवं कश्मीर विधानसभा से विपक्षी विधायकों का बहिर्गमन
वहीं आठ फरवरी को हरियाणा में दो कश्मीरी छात्रों पर कथित हमले के विरोध में विपक्षी पार्टी नेशनल कांफ्रेंस (एनसी) और कांग्रेस के विधायक गुरुवार को राज्य विधानसभा से बहिर्गमन कर गए. जैसै ही शुक्रवार को विधानसभा की कार्यवाही शुरू हुई, उत्तेजित विधायक फौरन खड़े होकर विरोध करने लगे. विपक्ष ने राज्य के बाहर स्थानीय छात्रों और व्यवसायियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए राष्ट्रपति द्वारा आदेश दिए जाने की मांग को लेकर प्रस्ताव पारित करने की मांग की.

दिल्ली से करीब 125 किलोमीटर दूर महेंद्रगढ़ के पास स्थित सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ हरियाणा के छात्र दो कश्मीरी युवाओं आफताब अहमद और अमजद पर कथित रूप से दो फरवरी को उस समय हमला हुआ था, जब वे बाजार गए थे. युवाओं ने दावा किया कि उनके ऊपर बेवजह हमला किया गया.