फ्लोरिडा: गोलीबारी का संदिग्ध निकला स्कूल की निशानेबाजी टीम का हिस्सा

0
2

पार्कलैंड (अमेरिका): फ्लोरिडा के एक स्कूल में गोलीबारी कर 17 लोगों को मौत के घाट उतारने वाला किशोर स्कूल के एयर-राइफल निशानेबाजी टीम का हिस्सा था. साथ ही निशानेबाजी के कार्यक्रम में अच्छा प्रदर्शन कर रहा था. मामले की जांच कर रहे अधिकारियों ने बताया कि नेशनल राइफल एसोसिएशन फाउंडेशन ने निशानेबाजी के इस कार्यक्रम को अनुदान दिया था. बता दें कि संस्था द्वारा यह अनुदान युवा निशानेबाजी क्लब और अन्य कार्यक्रमों को बढ़ावा देने के प्रयास के तहत दिया जाता है.

आरोपी निकोलस क्रूज गिरफ्तार
गोलीबारी की घटना के बाद पुलिस अधिकारियों ने निकोलस क्रूज (19) को गिरफ्तार किया. गिरफ्तारी के समय निकोलस ने आर्मी जूनियर रिजर्व ऑफिसर ट्रेनिंग कॉर्प्स (जेआरओटीसी) कार्यक्रम के लोगो वाली मरून रंग की शर्ट पहनी थी. जेआरओटीसी के पूर्व छात्रों से निकोलस के बारे में पूछताछ में ये बात सामने आई कि क्रूज स्कूल की निशानेबाजी टीम का सदस्य था.

17 लोगों की हुई थी मौत
टीम को कक्षा खत्म होने के बाद प्रशिक्षित किया जाता था. यह टीम दूसरे इलाके के स्कूलों की प्रतियोगिता में हिस्सा लेने भी जाया करती थी. गौरतलब है कि फ्लोरिडा के हाईस्कूल में हमलावर किशोर निकोलस क्रूस ने स्कूल में गोलीबारी कर 17 लोगों को मौत के घाट उतार दिया था.

फ्लोरिडा के एक स्कूल में गोलीबारी कर 17 लोगों की मौत के बाद अमेरिका के फ्लोरिडा के गवर्नर रिक स्कॉट ने शनिवार (17 फरवरी) को संघीय जांच ब्यूरो (एफबीआई) के निदेशक से इस्तीफा देने की मांग की है. स्कॉट का कहना है कि फ्लोरिडा हाईस्कूल के हमलावर के बारे में पहले से ही खुफिया सूचना थी, लेकिन इसके बाद भी कोई फुर्ती नहीं दिखाई गई.

FBI पर लापरवाही बरतने का आरोप
स्कॉट ने अपने बयान में कहा कि हमलावर के खिलाफ एफबीआई द्वारा कोई कदम नहीं उठाया गया, जिसके कारण इतनी बड़ी घटना घटित हुई. बता दें कि एफबीआई ने शुक्रवार को जारी बयान में स्वीकार किया था कि एजेंसी को जनवरी में निकोलज क्रूज (19) के बारे में जानकारी मिली थी लेकिन एजेंसी उचित समय पर कोई ठोस कदम नहीं उठा पाई.