जम्मू-कश्मीरः आतंकियों ने सेना कैंप पर ग्रेनेड फेंका, मुठभेड़ जारी

0
42

नई दिल्लीः जम्मू कश्मीर में आतंकियों ने सेना के कैंप पर ग्रेनेड हमला किया है. यह हमला कश्मीर के पुलवामा जिले के काकपोरा स्थित सेना कैंप पर हुआ है. भारतीय सेना इस हमले का मुंहतोड़ जवाब दे रही है. फिलहाल किसी भी तरह के नुकसान की खबर नहीं मिली है. विस्तृत खबर की प्रतिक्षा है.

आपको बता दें कि जम्मू कश्मीर के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान द्वारा भारी गोलेबारी में रविवार को सेना के चार जवानों के शहीद होने के एक दिन बाद सेना ने सोमवार को कहा कि भारत मुंहतोड़ जवाब देता रहेगा और उसकी कार्रवाई खुद बोलेगी. उप सेना प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल शरत चंद ने कहा कि सेना पाकिस्तान की गोलाबारी का उचित ढंग से जवाब दे रही है और भारत इस तरह की हरकतों का ‘‘मुंहतोड़ जवाब’’ देता रहेगा.

‘हमें कुछ नहीं कहना, हमारी कार्रवाई बोलेगी’ 
उन्होंने कहा, ‘‘यह (जवाबी कार्रवाई) बिना कुछ कहे चल रही है, मेरा मानना है कि मुझे यह कहना नहीं है. हमारी कार्रवाई खुद बोलेगी.’’ एलओसी पर पाकिस्तान की भारी गोलाबारी में रविवार को कैप्टन और तीन जवान शहीद हो गये थे और कम से कम चार लोग घायल हो गए थे. चंद ने कहा कि पाकिस्तानी सेना सीमा पर आतंकियों की घुसपैठ का समर्थन कर रही है.

यहां एक कार्यक्रम के इतर उन्होंने कहा, ‘‘हम (इस तरह की कार्रवाई का) मुंहतोड़ जवाब देंगे.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम समुचित ढंग से जवाब दे रहे हैं.’’ पाकिस्तान की ओर से रविवार को की गई गोलाबारी के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘पाकिस्तान की ओर से सीमा पार गोलाबारी हो रही है. गोलों में से एक गोला अधिकारी और उनके चार जवानों के निकट गिरा जिससे ये जवान शहीद हुए.’’

कैप्टन कपिल कुंडू जन्मदिन से 6 दिन पहले शहीद हुए
सैन्य अधिकारियों ने बताया कि हरियाणा के गुडगांव जिले के रहने वाले कैप्टन कपिल कुंडू अपने 22वें जन्मदिन से केवल छह दिन पहले शहीद हुए. इनके अलावा साम्बा जिले के रहने वाले रोशन लाल (42), मध्य प्रदेश के रहने वाले राइफलमैन रामअवतार (27) और जम्मू कश्मीर के कठुआ जिले के रहने वाले शुभम सिंह (23) शहीद हो गये. गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को संसद के बाहर पत्रकारों से कहा कि देश के लोगों का सेना की वीरता पर पूरा भरोसा है.