Home > प्रदेश > अजब मध्यप्रदेश की गजब कहानी: स्कूल के छत पर चल रही परीक्षा, नीचे लग रहे अश्लील ठुमके

अजब मध्यप्रदेश की गजब कहानी: स्कूल के छत पर चल रही परीक्षा, नीचे लग रहे अश्लील ठुमके

टीकमगढ़: अजब मध्य प्रदेश की एक गजब कहानी सामने आई है. एमपी में एक शिक्षा का मंदिर अश्लील डांस का केन्द्र बन गया और स्कूल में परीक्षा दे रहे परीक्षार्थी उसके दर्शक में बदल गए. जी हां, हम बात कर रहे हैं टीकमगढ़ जिले के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मोहनगढ़ की, जहां पिछले तीन दिनों से स्कूल परिसर में चल रहे पूर्व मंत्री स्व. सुनील नायक स्मृति वॉलीबॉल एवं विधायक कप टूर्नामेंट कार्यक्रम के दौरान बार बालाओं द्वारा किए गए डांस में जमकर अश्लीलता परोसी गई. जबकि इसी स्कूल में दो फरवरी से 26 फरवरी तक जहां एक ओर माध्यमिक शिक्षामण्डल द्वारा कक्षा 9 व 11 की वार्षिक परीक्षाएं आयोजित की जा रही है.

विधायक हैं कार्यक्रम संयोजक और महिला बाल विकास राज्यमंत्री रही हैं मुख्य अतिथि
एक ओर जहां स्कूल में परीक्षाएं हो रही हैं वहीं दूसरी ओर उसी स्कूल प्रांगण में पूरे दिन टूर्नामेंट के मैच खेले जा रहे हैं. इस वजह से बच्चों को परीक्षा दे पाना मुश्किल हो रहा है. जिन कक्षों में छात्रों को परीक्षा देना चाहिए वहां बाहर से मैच खेलने आई टीमें रूकी हुई हैं और इस शोर-शराबे के बीच छात्रों की परीक्षाएं स्कूल की छत पर जमीन पर बिठाकर कराई जा रही है. ऐसा भी नहीं है कि इसकी जानकारी जनप्रतिनिधियों और प्रशासन के आला अधिकारियों को न हो, वह भी इस कार्यक्रम में बतौर अतिथि शामिल हो रहे हैं. बुधवार को कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में महिला बाल विकास राज्यमंत्री ललिता यादव कार्यक्रम संयोजक पृथ्वीपुर विधायक अनीता नायक के साथ उपस्थित रही थीं.

मर्यादाएं हुईं तार-तार
मोहनगढ़ के शासकीय माध्यमिक स्कूल में सत्ता के पदाधिकारियों और प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में न केवल नियम कानूनों की खुलेआम धज्जियां उड़ाई गई हैं बल्कि स्कूली छात्र-छात्राओं और शिक्षकों की मौजूदगी में खुलेआम अश्लील डांस के चलते मर्यादाएं भी तार-तार हुई हैं.

परीक्षा के दौरान स्कूल में चल रहा है कार्यक्रम
आमतौर पर परीक्षाओं के दौरान छात्र शांत वातावरण में दिन-रात कड़ी मेहनत करके परीक्षा उत्तीर्ण करना चाहते हैं. अगर इनकी इस पढ़ाई में किसी प्रकार का कोई खलल उत्पन्न हो तो उसका असर उनके परीक्षा परिणाम में साफ तौर पर नजर आता है. लेकिन, टीकमगढ़ जिले के मोहनगढ़ के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के प्रांगण में चल रहे तीन दिवसीय विधायक कप के भव्य कार्यक्रम के चलते न तो छात्र सही ढंग से स्कूल में परीक्षा दे पा रहे हैं और न ही सुबह से देर रात तक तेज ध्वनि से बजने बाले साउण्ड के चलते अपने घरों पर पढ़ाई कर पा रहे हैं. छात्रों का कहना है कि ऐसे में उनका भविष्य खराब हो रहा है. यही बात छात्रों के अभिभावक भी कह रहे हैं. छात्रों के अभिभावकों का कहना है कि इस ओर न तो प्रशासन ध्यान दे रहा है और न ही स्कूल प्रबंधन.

जिला शिक्षाधिकारी को नहीं है जानकारी
इस पूरे मामले से अनभिज्ञता जताते हुये जिला शिक्षाधिकारी बी.एल. लुहारिया का कहना है कि इस संबंध में मेरे पास न तो किसी अभिभावक द्वारा और न ही स्कूल प्रबंधन द्वारा कोई शिकायत की गई है और न ही स्कूल प्रांगण में इस प्रकार के कोई कार्यक्रम की स्वीकृति मेरे द्वारा और न ही स्कूल द्वारा स्वीकृति दी गई है.

सत्ता की हनक में दरकिनार हुआ छात्रों का भविष्य
जानकारी के मुताबिक यहां सत्ताधारी पार्टी की विधायक अनीता नायक के पति और पूर्व मंत्री स्वर्गीय सुनील नायक की स्मृति में आयोजित तीन दिवसीय विशाल वॉलीबॉल टूर्नामेंट का कार्यक्रम स्कूल प्रांगण में आयोजित किया गया. जबकि स्कूल में माध्यमिक शिक्षा मण्डल की कक्षा 9 और 11वीं की परीक्षाएं चल रही हैं. इसके बावजूद भी सत्ता की हनक देखिए कार्यक्रम संयोजक विधायिका ने न तो इस कार्यक्रम को आयोजित करने के लिए शिक्षा विभाग से और न ही स्कूल प्रबंधन से कोई स्वीकृति ली और सैकड़ों छात्रों के भविष्य को दरकिनार करते हुए परीक्षाओं के दौरान स्कूल प्रागंण में कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है.

error: Content is protected !!