आम बजट के बीच यहां पढ़ें राजस्थान उपचुनाव से जुड़ी सभी खबरें

0
109

नई दिल्ली: एक फरवरी यानी गुरुवार को देश का आम बजट पेश किया गया. इस वजह से देशवासियों की नजरें बजट से जुड़ी खबरों पर टिकी रही. गुरुवार को ही राजस्थान उपचुनाव के भी रिजल्ट आए, जिसमें कांग्रेस ने बंपर जीत दर्ज कर सबको चौंका दिया है. अगर आप बजट की खबरों के बीच राजस्थान उपचुनाव की खबरों से मरहूम रह गए हैं तो यहां एक पढ़ें चुनावी हलचल की सभी खबरें.

अगर यही ट्रेंड रहा बरकरार तो राजस्थान में महज 53 सीटों पर सिमट जाएगी BJP!
राजस्थान के उपचुनाव परिणाम बीजेपी के लिए बहुत ही निराशाजनक रहे. पार्टी का खाता नहीं भी खुला. गुरुवार को हुई मतगणना के बाद अलवर, अजमेर लोकसभा सीट और मांडलगढ़ विधानसभा सीट पर कांग्रेस ने जीत दर्ज की है.

CM वसुंधरा राजे से हुई ये 5 चूक और सचिन पायलट ने फहरा दिया कांग्रेस का पताका
साल 2014 के लोकसभा चुनावों के बाद देशभर में पंचायत और नगर पंचायत तक के ज्यादातर चुनावों में हार झेल रही कांग्रेस ने राजस्थान उपचुनाव में अप्रत्याशित जीत दर्ज की है.

राजस्थान की इस सीट पर कांग्रेस का बागी ‘वोटकटवा’ भी नहीं दिला पाया BJP को जीत
राजस्थान उपचुनाव में मांडलगढ़ विधानसभा सीट से कांग्रेस के विवेक धाकड़ ने जीत दर्ज की है. कांग्रेस प्रत्याशी विवेक धाकड़ ने बीजेपी शक्ति सिंह हाडा को 12976 वोटों से हराया है. इस सीट पर एक दिलचस्प आंकड़ा देखने को मिला है.

सचिन पायलट ने बिछाई ये 5 बिसात, चारों खाने चित हुईं CM वसुंधरा
आगामी राजस्थान विधानसभा चुनाव से पहले राज्य में दो लोकसभा और एक विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में कांग्रेस ने बड़ी जीत दर्ज की है. विधानसभा चुनाव से पहले सेमीफाइनल कहे जा रहे उपचुनाव में सत्ताधारी बीजेपी चारो खाने चित हो गई है.

वसुंधरा राजे को पस्त करने के बाद सचिन पायलट ने कही ये बात
राजस्थान उपचुनाव में कांग्रेस ने मांडलगढ़ विधानसभा और अजमेर व अलवर लोकसभा सीट पर भी कांग्रेस ने बड़े अंतर से जीत दर्ज कर चुकी है. कांग्रेस की इस बड़ी जीत के बाद पूरे उपचुनाव में कांग्रेस के रणनीतिकार रहे पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा कि यह कांग्रेस के पक्ष में और वसुंधरा सरकार के विरोध में मैंडेट है.

सचिन पायलट ने बनाया ऐसा ‘जातीय किला’, CM वसुंधरा के 8 ‘लड़ाके’ भी नहीं भेद सके
अजमेर इलाके में मुस्लिम, राजपूत, ब्राह्मण, वैश्य और रावत समुदाय से जुड़े लोग भी बड़ी तादाद में रहते हैं. हालांकि राजपूत समाज के लोग ही निर्णायक रोल निभाते हैं. सचिन ने इस बात को भांपते हुए रघु शर्मा के सहारे राजपूत समाज के एक बड़े तबके को कांग्रेस के पाले में करने में सफल रहे.

वसुंधरा सरकार ने की ये 5 गलतियां, और तय हो गई कांग्रेस की अपराजेय बढ़त
कांग्रेस के नजरिए से देखें तो देशभर में लगातार हार झेल रही इस पार्टी के लिए उपचुनाव के परिणाम संजीवनी साबित हो सकते हैं. आइए जानें कौन सी वह 5 वजह है जिसके चलते अजमेर लोकसभा सीट पर कांग्रेस की जीत और बीजेपी की हार हुई.

पद्मावत का विरोध और आनंदपाल का एनकाउंटर बनी कांग्रेस के लिए ‘संजीवनी’
राजस्थान उपचुनाव को करीब से देखने वाले जानकार मानते हैं कि इस बार का चुनाव पूरी तरीके से जातीय समीकरण के आधार पर लड़ा गया. इसमें कांग्रेस बाजी मारने में कामयाब रही.

राजस्थान के सेमीफाइनल में हारी बीजेपी
इसी साल के अंत में राजस्थान में होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले बीजेपी और प्रदेश की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के लिए यह बहुत बड़ा झटका माना जा रहा है.

वसुंधरा राजे को मिली करारी शिकस्‍त
अजमेर लोकसभा सीट पर कांग्रेस के रघु शर्मा जीते हैं तो अलवर सीट पर कांग्रेस के करण सिंह यादव ने विजयी पताका फहराया है. मांडलगढ़ विधानसभा सीट पर भी कांग्रेस के विवेक धाकड़ ने जीत का स्वाद चखा है.