शत्रुघ्न सिन्हा का बीजेपी पर नया वार, पार्टी को बताया ‘वन मेन शो’ और ‘टू मेन आर्मी’

0
42

नरसिंहपुरः बीजेपी के लोकसभा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने सोमवार (5 फरवरी) को कहा कि केंद्रीय मंत्रियों की अहमियत कम हुई है और पार्टी (बीजेपी) ‘वन मेन शो’ और ‘टू मेन आर्मी’ है. सिन्हा ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘हमें ही नहीं, बहुत सारे लोगों को महसूस होता है कि ‘वन मेन शो’ और ‘टू मेन आर्मी’ है. ऐसा नहीं होना चाहिये, हमें सामूहिक निर्णय लेना चाहिये.’’ पत्रकार वार्ता में उनकी बगल में बीजेपी के ही असंतुष्ट वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा भी मौजूद थे. किसानों की मांगों के समर्थन में यशवंत सिन्हा के धरने में शामिल होने शत्रुघ्न सिन्हा रविवार को यहां आये थे. यशवंत ने चार दिवसीय धरना रविवार (5 फरवरी) रात को समाप्त कर दिया.

शत्रुघ्न ने केन्द्रीय मंत्रियों के बारे में कहा, ‘‘मंत्रियों की अहमियत बहुत कम हो गयी है. बहुत सारे लोग 80 प्रतिशत मंत्रियों को जानते नहीं होंगे, जानते होंगे तो मानते नहीं होंगे, मानते होंगे तो पहचानते नहीं और पहचानते हैं तो किसी काम के नहीं दिखते. ऐसा क्यों हो रहा है. एक सामूहिक निर्णय :कलेक्टिव डिसीजन: लेना चाहिये. अटल जी की सरकार में हम सबकी अपनी पहचान थी.’’

शत्रुघ्न के निशाने पर पीएम मोदी!, कहा- 'मन की बात' पर किसी और का पेटेंट, करुंगा 'दिल की बात'

एक सवाल पर शत्रुघ्न ने हंसते हुए कहा, ‘‘आपके सवाल में ही जवाब छिपा है. यदि जनता को महसूस होता है कि तरक्की के काम नहीं हुए, भाषण हुए या जुमलेबाजी हुई, उसका खामियाजा हम पहले भी भुगत चुके हैं. हम लोग बहुमत से आते हैं, जनता हमें स्थायी नहीं कर देती है.’’

 

लालू यादव के जेल जाने से दुखी हैं शत्रुघ्न सिन्हा, कहा- अटूट है हमारी दोस्ती

उन्होंने कहा, ‘‘आपने देखा होगा कि जिनके परिवार का इतना बड़ा योगदान रहा. देश में नेहरू, इंदिरा और राजीव गांधी की मजबूत सरकार आयी थी. उसको भी उस बहुमत गंवाने में बहुत वक्त नहीं लगा.’’ उन्होंने कहा, ‘‘बहुमत का आना जाना देश की जनता पर निर्भर करता है. धनशक्ति, जनशक्ति पर कितना भी हावी क्यों न हो जाये, लेकिन एक वक्त जनशक्ति उभरती है और वही फैसला करती हैं.’’

बाबुल सुप्रियो के वार पर शत्रुघ्न का पलटवार – अभी बच्चा है, नया जोश है वफादारी दिखाने का
अभिनेता व राजनेता शत्रुघ्न सिन्हा ने हाल ही में राजस्थान में हुए उपचुनाव के नतीजे देखकर कहा था कि ‘राजस्थान की जनता ने भाजपा को तीन तलाक दे दिया है’, जो बंगाल से भाजपा सांसद बाबुल सुप्रियो पर नगवार गुजरा था. सुप्रियो ने कहा था, “शत्रुघ्न सिन्हा जी को बोलता हूं कि आपको इतनी नफरत है तो क्यों रोज आके संसद में बैठते हैं? क्यों ऐसी परिस्थितियां पैदा करते हैं कि दूसरों को बोलना पड़े खामोश! ड्रेसिंग रूम की बात वहीं रहनी चाहिए. आप तीन तलाक दीजिए और खुद भाजपा छोड़ दीजिए.” सिन्हा ने गायक से सांसद बने सुप्रियो के वार पर पलटवार करते हुए कहा, “बाबुल अभी बच्चा है. नया जोश है वफादारी दिखाने का. लेकिन उसकी चापलूसी का स्तर दुखद है.”

उन्होंने कहा, “मैं तब से राजनीति में हूं, जब वह भी पैदा भी नहीं हुआ था और मैं तब से फिल्म जगत का हिस्सा हूं, जब उसने इसके बारे में सोचा भी नहीं होगा. उसे यह सोचना चाहिए कि वह किसे खामोश कह रहा है और वह ऐसा क्यों कर रहा है.”

सिन्हा ने कहा, “मैं सत्ताधारियों को खुश करने की उसकी ललक को समझ सकता हूं. आखिरकार उसे एक मंत्रालय का प्रभार दिया गया है, हालांकि जिसका कोई औचित्य नहीं है, और उसे वह दया याचिका के आधार पर दिया गया है. वह उन नए लोगों जैसा है, जिसने मेरी फिल्मों के सेट पर काम शुरू किया और अपनी उपस्थिति दर्ज कराने के लिए जब कैमरा रोल हुआ तो उसने संकेत दिए, हाथ दिखाए और ऊपर-नीचे कूदा.”