Home > देश > जब इस खास अंदाज में मां सोनिया गांधी से मुखातिब हुए ‘बॉस’ राहुल गांधी

जब इस खास अंदाज में मां सोनिया गांधी से मुखातिब हुए ‘बॉस’ राहुल गांधी

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को पार्टी के पूर्ण अधिवेशन के कार्यक्रम को अंतिम रूप देने के लिए गठित पार्टी की स्टीयरिंग कमेटी की पहली बैठक की अध्यक्षता की. कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) को भंग करने के बाद इस स्टीयरिंग कमेटी का गठन किया गया था. पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस संसदीय दल की अध्यक्ष सोनिया गांधी, वरिष्ठ नेता ए के एंटनी, अहमद पटेल, गुलाम नबी आजाद, मल्लिकार्जुन खड़गे सहित कई अन्य नेताओं ने इस बैठक में शिरकत की. बैठक के बाद मीडिया में आई तस्वीरों में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और उनकी मां सोनिया गांधी का यह अंदाज चर्चा में रहा. गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ही यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा था राहुल तो अब मेरा भी बॉस है.

राहुल ने सीडब्ल्यूसी को भंग कर 34 सदस्यीय एक स्टीयरिंग कमेटी बनाई थी ताकि नई सीडब्ल्यूसी के गठन तक वह इसकी जगह काम कर सके.  भंग की गई सीडब्ल्यूसी के सभी सदस्य नई कमेटी का हिस्सा हैं, जबकि अमरिंदर सिंह, विलास मुत्तेमवार, आर के धवन, शिवाजीराव देशमुख, एम वी राजशेखरन और मोहसीना किदवई जैसे स्थायी आमंत्रित सदस्यों और सभी विशेष आमंत्रित सदस्यों को नए पैनल में जगह नहीं मिली है. पार्टी के संविधान के अनुसार, 25 सदस्यीय सीडब्ल्यूसी में कांग्रेस अध्यक्ष एवं कांग्रेस संसदीय दल के अध्यक्ष के अलावा 12 निर्वाचित सदस्य और 11 मनोनीत सदस्य होते हैं. सीडब्ल्यूसी के नए सदस्यों को पूर्ण अधिवेशन में या उसके बाद चुना जाएगा.

कांग्रेस का महाधिवेशन 16, 17, 18 मार्च को दिल्ली में
कांग्रेस की भावी रणनीति तय करने के लिए पार्टी का महाधिवेशन दिल्ली में 16,17 और 18 मार्च को होगा. महाधिवेशन की तारीखों को पार्टी की संचालन समिति की आज हुई बैठक में मंजूरी दी गयी। कांग्रेस कार्यसमिति को भंग कर संचालन समिति का गठन किया गया है जो नई सीडब्ल्यूसी का गठन होने तक उसके स्थान पर काम करेगी. महाधिवेशन में राहुल के कांग्रेस अध्यक्ष पद पर निर्वाचन को अनुमोदित किया जाएगा. कांग्रेस के इतिहास में अभी तक मात्र पांच ऐसे मौके आए हैं जब सीडब्ल्यूसी के सदस्यों का निर्वाचन हुआ.

error: Content is protected !!