अमेरिका में भारतीय दूतावस की टेलीफोन लाइन हैक, कर डाली करोड़ों की ठगी

0
15

नई दिल्ली : अमेरिका में धोखाधड़ी का एक नया मामला सामने आया है. इसमें लोगों को ठगने के लिए भारतीय दूतावास की फोनलाइन का इस्तेमाल किया गया है. मामला सामने आने पर भारतीय दूतावास ने अमेरिकी सरकार को एडवाइजरी जारी कर इसके बारे में सतर्क कर दिया है. बताया जा रहा है कि भारतीय दूतावास की टेलीफोन लाइन को हैक करके यह धोखाधड़ी का खेल किया जा रहा था.

भारतीय दूतावास से मिली जानकारी के मुताबिक, कुछ लोगों ने टेलीफोन की लाइन हैक कर ली है और ये ठग लोगों को फोन करके उनके क्रेडिट कार्ड की जानकारी लेते हैं. दूतावास के अधिकारियों ने बताया कि ये लोग भारतीय मूल के लोगों को फोन करके उनके पासपोर्ट या वीजा में गड़बड़ी होने की बात कहते हुए लोगों को डराते हैं और फिर उन्हें कुछ फीस जमाकर करके इस गड़बड़ी को ठीक करने की बात कहते है. चूंकि फोन भारतीय दूतावास से आता है, इसलिए लोग उनकी बात पर विश्वास करके फीस के लिए अपने क्रेडिट कार्ड की जानकारी शेयर कर देते हैं.

जारी की एडवाइजरी
भारतीय दूतावास ने एडवाइजरी जारी करते हुए कहा कि किसी भी दस्तावेज में गड़बड़ी होने पर दूतावास का कोई भी अधिकारी किसी को फोन नहीं करता है. गड़बड़ी की जानकारी संबंधित आदमी को उसके ई-मेल पर दी जाती है और उसे कार्यालय बुलाकर दस्तावेजों में खामी के बारे में बताया जाता है.

अपने परामर्श में भारतीय दूतावास ने कहा है कि गड़बड़ी करने वालेये लोग क्रेडिट कार्ड वगैरह जैसी निजी सूचनाएं हासिल करते हैं या भारतीय मूल के लोगों को फोन करके दावा करते हैं कि उनके पासपोर्ट, वीजा फॉर्म या आव्रजन फार्म में गड़बड़ी है जिसे कुछ कीमत चुकाकर ठीक कराया जा सकता है. वे यह भी कहते हैं कि इन खामियों को ठीक नहीं किया गया तो आपका वीजा रद्द हो सकता है, उन्हें भारत वापस भेजा जा सकता है या अमेरिका में जेल हो सकती है.

ठगों ने लगाई करोड़ों की चपत
भारतीय दूतावास ने लोगों से अपील की है कि वे इस तरह के किसी भी फोन कॉल के बहकावे में ना आएं और अपनी निजी जानकारियों को शेयर ना करें. जानकारी के मुताबिक, इन ठगों के चंगुल में फंसकर कई लोगों को करोड़ों रुपये की चपत लग चुकी है. इस बात की शिकायत लोगों ने भारतीय दूतावास में की. शिकाययत मिलने पर टेलीफोन लाइन हैक होने की बात का पता चला है.

अमेरिका प्रशासन चौकन्ना
उधर, अमेरिकी प्रशासन ने भी कहा है कि उन्हें भारतीय दूतावास की तरफ से इस तरह की सूचना मिली है. उन्होंने बताया कि टेलीफोन लाइन हैक होने की सूचनाएं तो मिलती रहती हैं, लेकिन किसी दूतावास की लाइन हैक हुई हो, यह पहला मामला है.