महाराष्ट्र सरकार के ऐप का डेटा प्राइवेट ट्रस्ट को भेजा जा रहा है : पृथ्वीराज चव्हाण

0
122

मुंबई: महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने आरोप लगाया है कि राज्य सरकार के सूचना और जनसंपर्क विभाग के एक एप द्वारा एकत्र डेटा एक निजी ट्रस्ट को भेजा जा रहा है. सूचना और जनसंपर्क महानिदेशालय (डीजीआईपीआर) इस एप का प्रमुख है. यह विभाग सरकार की नीतियों के बारे में प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को जानकारी उपलब्ध कराता है. चव्हाण ने मंगलवार को राज्य विधानसभा में दावा किया कि अतुल वाजे नामक व्यक्ति ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के‘ आशीर्वाद’ से अनुलोम नाम के इस ट्रस्ट को शुरू किया है.

फडणवीस हाल ही में सोशल मीडिया यूजर्स को सम्मानित किया था 
हाल ही में फडणवीस ने सक्रिय सोशल मीडिया यूजर्स को सम्मानित किया. इन लोगों को महामित्र का नाम दिया गया. इनका चयन सोशल मीडिया पर उनकी सक्रियता, ट्विटर पर उनके फॉलोअर्स की संख्या, फेसबुक पर फ्रेन्ड्स की संख्या एवं लाइक्स एवं कॉटैक्ट के आधार पर किया गया.

डेटा को अनुलोम नामक एक निजी ट्रस्ट को भेजा जाता है : चव्हाण 
इस पर चव्हाण ने आरोप लगाया, ‘‘ इन महामित्रों का इस्तेमाल लोगों के दिमाग और मत पर काबू पाने के लिए किया जा रहा है. सभी संकलित डेटा को अनुलोम नामक एक निजी ट्रस्ट को भेजा जाता है, जिसकी स्थापना अतुल वाजे ने मुख्यमंत्री के आशीर्वाद से की थी.’’ पूर्व मुख्यमंत्री ने इसके बाद विधानसभा के बाहर संवाददाताओं से बताया कि अनुलोम का सर्वर जर्मनी में है. मुख्यमंत्री कार्यालय ने चव्हाण के दावों पर अब तक कुछ नहीं कहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here