बीजेपी मुख्यालय में पीएम मोदी ने अजान के वक्त बीच में रोका भाषण

0
13

नई दिल्लीः पूर्वोत्तर के राज्यों में बीजेपी के शानदार प्रदर्शन के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार शाम को बीजेपी मुख्यालय में कार्यकर्ताओं को संबोधित करने पहुंचे. इस दौरान पार्टी के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, सुषमा स्वराज और राजनाथ सिंह भी बीजेपी मुख्यालय पहुंचे. पार्टी कार्यालय पहुंचने पर बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने प्रधानमंत्री मोदी को उत्तर पूर्वी राज्य के पारंपरिक मफलर पहनाकर स्वागत किया. इसके बाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. अमित शाह ने कहा, ‘मैं प्रधानमंत्री मोदी जी को बताना चाहता हूं कि उनके बताए मार्ग पर पार्टी के 11 करोड़ कार्यकर्ता उनके साथ खड़े होकर चल रहे हैं. आप आगे बढ़िए 2019 में इससे भी बढ़े नतीजे आने वाले’

इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पार्टी के कार्यकर्ताओंं को संबोधित करने के लिए मंच पर पहुंचे, पीएम मोदी ने अभी अपना भाषण शुरू ही किया था कि अचानक उन्होंने अपना भाषण रोक दिया. कार्यकर्ताओं की भीड़ और शोर के बीच किसी को समझ नहीं आ रहा था कि आखिर प्रधानमंत्री बोलते-बोलते चुप क्यों हो गए? लेकिन थोड़ी शांति हुई तो लोगों को समझ आ गया था कि आखिर पीएम मोदी ने क्यों अपना भाषण रोक दिया.

दरअसल प्रधानमंत्री जिस वक्त मंच पर कार्यकर्ताओं को संबोधित करने के लिए पहुंचे थे तभी मग़रिब (सांयकाल की नमाज/चौथी नमाज) की नमाज का वक्त हो गया था. पीएम मोदी के कानों में अचानक से अज़ान की आवाज सुनाई दी. प्रधानमंत्री ने तुरंत अपना भाषण रोक दिया और जब तक अज़ान पूरी नहीं हुई वह चुप खड़े रहे. पीएम मोदी को शांत देख कार्यकर्ता भी समझ गए उन्होंने भी पीएम मोदी के साथ शांति बनाए रखी. जैसे ही अज़ान समाप्त हुई पीएम मोदी ने भारत माता की जय का जोरदार नारा लगाया.

इसके साथ ही सैंकड़ों कार्यकर्ताओं ने मोदी-मोदी के नारे लगाए. अपने भाषण की शुरुआत में पीएम मोदी ने नॉर्थ ईस्ट में माओवाद हिंसा का शिकार हुए बीजेपी कार्यकर्ताओं को याद किया. प्रधानमंत्री ने कहा कि पूर्वोत्तर में बीजेपी की यह शून्य से शिखर की यात्रा है. इसके बाद पीएम मोदी ने त्रिपुरा में माओवादी हिंसा का शिकार हुए पार्टी केे कार्यकर्ताओं की आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन भी रखा.

गुजरात चुनाव के दौरान भी अज़ान के वक्त रोका भाषण 
पिछले साल गुजरात चुनाव में नवसारी में रैली के दौरान भी पीएम मोदी ने ‘अज़ान’ के कारण करीब दो मिनट के लिए अपना भाषण रोक दिया था.

आपको बता दें कि मेघालय, त्रिपुरा और नागालैंड विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने शानदार प्रदर्शन किया है. त्रिपुरा में पार्टी पहली बार सत्ता में पहुंची है. यहां बीजेपी ने लेफ्ट के किले ढहा दिया. बीजेपी गठबंधन ने त्रिपुरा में 59 सीटों में से 43 सीटें जीतकर बहुमत के आंकड़े को कहीं पीछे छोड़ दिया. सत्ताधारी सीपीएम को यहां 16 सीटें मिली है. नागालैंड में बीजेपी गठबंधन को 60 में से 29 सीटें मिली हैं जबकि एनपीएफ को 25 सीटें मिली है. 3 सीटें निर्दलीय के खाते में गई है. कांग्रेस और एनसीपी को यहां एक भी सीट नहीं मिली है. मेघालय में बीजेपी ने 59 सीटों में से 2 सीटों पर जीत दर्ज की है जबकि एनपीपी को 19 सीटे मिली है. यहां कांग्रेस को 21 और 11 सीटें निर्दलीय को मिली हैं.