श्री श्री पर वसीम रिजवी का पलटवार, सेक्युलर हिंदू-मुसलमान भारत को नहीं बनने देंगे सीरिया

0
13

नई दिल्ली : अयोध्या में राम मंदिर मुद्दे को सुलझाने में लगे आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर ने सोमवार को एक बड़ा बयान देते हुए कहा था कि अगर यह मुद्दा नहीं सुलझा तो भारत सीरिया बन जाएगा. उन्होंने कहा कि अयोध्या मुस्लिमों का धार्मिक स्थल नहीं है. उन्हें इस धार्मिक स्थल पर अपना दावा छोड़ कर मिसाल पेश करनी चाहिए.

आध्यात्मिक गुरु ने कहा था कि हालांकि यह मुद्दा कोर्ट में है, लेकिन कोर्ट से जो भी फैसला आएगा, उससे कोई ना कोई पक्ष नाराज जरूर होगा. इसलिए भलाई इसी में है कि इस मुद्दे को कोर्ट से बाहर जल्द से जल्द सुलझा लेना चाहिए, नहीं तो हालात खराब हो सकते हैं.

वसीम रिजवी ने किया पलटवार
श्री श्री रविशंकर के इस बयान पर शिया सेन्ट्रल वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष सैयद वसीम रिजवी ने पलटवार करते हुए कहा कि श्री श्री रविशंकर भारत के लोगों के बारे में गलत आकलन कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि सीरिया जैसे हालात यहां पैदा नहीं हो सकते. यहां पर सेक्युलर हिंदू और मुसलमान रहते हैं. उन्होंने कहा कि हां, अगर यह मुद्दा जल्द नहीं सुलझा तो हिंदू-मुसलमानों के बीच जो दरार बन रही है, वह एक दिन खाई बन सकती है.

निजी चैनल को दिए इंटरव्यू में बोले आध्यात्मिक गुरु
दरअसल, आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर ने एक निजी चैनल को दिए एक इंटरव्यू में कहा था कि अयोध्या का राम मंदिर विवाद इस समय कोर्ट में है और कोर्ट जो भी इस पर फैसला देना उससे एक ना एक पक्ष जरूर आहत होगा. कोर्ट के फैसले से दोनों पक्ष सहमत हो जाएं, ऐसा मुमकिन नहीं है. उन्होंने कहा कि इस मुद्दे को कोर्ट से बाहर दोनों पक्षों की सहमति से जल्द से जल्द सुलझा लेना होगा, नहीं तो भारत में भी सीरिया जैसी स्थिति पैदा हो जाएगी.

बात दें कि ऑर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रविशंकर कोर्ट से बाहर अयोध्या विवाद सुलझाने के लिए विभिन्न संगठनों से लगातार मुलाकात कर रहे हैं. वे मुस्लिम संगठनों से मुलाकात कर हिंदुओं के लिए जमीन छोड़ने के बात कर रहे हैं. उनकी इस कोशिश का कई मुस्लिम संगठनों ने समर्थन भी किया है.