होली पर नमाज का समय बदलने के लिए योगी ने किया मुस्लिम धर्मगुरुओं का धन्यवाद

0
9

गोरखपुर : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पिछले हफ्ते होली के मौके पर जुमे की नमाज का समय बदलने के लिए सोमवार को मुस्लिम धर्मगुरूओं का धन्यवाद किया. योगी ने गोरखपुर लोकसभा सीट के उपचुनाव के सिलसिले में हुई जनसभाओं में कहा कि वह होली के कारण जुमे की नमाज का समय बदलने के लिए मुस्लिम धर्मगुरूओं का धन्यवाद करते हैं. जुमा साल में 52 बार आता है जबकि होली वर्ष में केवल एक बार आती है. मुस्लिम धर्मगुरूओं ने नमाज का समय बदलने का फैसला किया और होली का त्यौहार शांतिपूर्वक संपन्न हो गया.

‘पहले होली के अवसर पर दंगे आम बात थी’
मुख्यमंत्री ने कहा कि जनता आशंकित थी क्योंकि होली और जुमा एक ही दिन पड़ गये थे. पहले जब इस तरह से दो खास अवसर एक ही दिन पडते थे तो दंगे आम बात थी. पूर्व के वर्षों में जब लोग मस्जिदों से नमाज के बाद बाहर आते थे और हिन्दू होली खेलते थे तो दंगे हो जाते थे लेकिन इस बार सब कुछ शांतिपूर्वक संपन्न हो गया. योगी ने पूर्व सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि सपा सरकार के समय विशेषकर होली के अवसर पर दंगे आम बात थी…सपा वाले दंगाइयों का सम्मान करते थे.

‘बीजेपी विकास सुनिश्चित कर रही है’
लोकसभा उपचुनाव के लिए सपा—बसपा के साथ आने पर मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास का कोई विकल्प नहीं है और भाजपा विकास सुनिश्चित कर रही है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार सुशासन सुनिश्चित कर रही है और भ्रष्टाचार के अवसर नहीं हैं जबकि पूर्व की सपा—बसपा सरकारों के समय अगर कोई निवेशक राज्य में निवेश करना चाहता था तो उसे रिश्वत देनी पडती थी लेकिन अब हालात बदल गये हैं.

उन्होंने स्मरण कराया कि जब सपा की सरकार थी तो उसने कहा था कि वह बसपा द्वारा बनवाई गई इमारतों और मूर्तियों को ध्वस्त कर देगी. ठीक उसी तरह बसपा ने कहा था कि सत्ता में आने के बाद वह सैफई को ध्वस्त कर देगी लेकिन अब दोनों एक साथ हो गये हैं.

‘हम बिना किसी भेदभाव नौकरियां मुहैया कराएंगे’
परिवार, वंश, जाति एवं क्षेत्र की राजनीति पर हमला करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि हम बिना किसी भेदभाव नौकरियां मुहैया करायेंगे. उन्होंने कहा कि पूर्व की सरकारों में केवल एक ही परिवार संपन्नता की राह पर चला लेकिन भाजपा सबके लिए विकास लेकर आयी और परिवार आधारित युग को समाप्त कर विकास आधारित राजनीति शुरू की क्योंकि विकास का कोई विकल्प नहीं है.

उन्होंने कहा कि सपा—बसपा के तालमेल से चुनावी नतीजों पर असर नहीं होगा. अगर भाजपा जीती तो यह विकास की विजय होगी. अगर भाजपा विजयी हुई तो जनता सुरक्षित रहेगी… भाजपा की विजय गांव, गरीब और किसान की विजय होगी.