सीरिया में हमले के बाद ट्रंप ने राष्ट्रपति असद को दी चेतावनी, कहा- इसकी भारी कीमत चुकानी पड़ेगी

0
68

वॉशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल असद को हिंसा प्रभावित एक सीरियाई शहर में किए गए एक रसायनिक हमले को लेकर चेतावनी देते हुए कहा कि इसकी भारी कीमत चुकानी पड़ेगी. दरअसल, वहां दर्जनों सीरियाई मारे गए हैं.  ट्रंप ने असद को एक जानवर’ भी कहा और उनका समर्थन करने के लिए रूस एवं ईरान को जिम्मेदार ठहराया.  ट्रंप ने रविवार को सिलसिलेवार ट्वीट में कहा, ‘‘सीरिया में रसायनिक हमले में महिलाओं और बच्चों सहित कई लोग मारे गए हैं.  हमला स्थल को सीरियाई सेना ने घेर लिया और वहां बाहरी दुनिया की पहुंच पूरी तरह से रोक दी है.

अमेरिकी राष्ट्रपति ने असद शासन का समर्थन करने को लेकर अपने रूसी समकक्ष व्लादिमीर पुतिन और ईरान को चेतावनी देते हुए कहा, ‘‘राष्ट्रपति पुतिन, रूस और ईरान ‘जानवर असद’ का समर्थन करने के लिए जिम्मेदार हैं. ’’ उन्होंने कहा कि यदि (पूर्व) राष्ट्रपति बराक ओबामा ने चाहा होता तो सीरियाई त्रासदी काफी समय पहले ही खत्म हो गई होती.

उन्होंने ट्वीट किया, ‘जानवर असद इतिहास बन गया होता. ब्रिटेन आधारित निगरानी संस्था सीरियन आब्जरवेटरी फॉर ह्यूमन राइट के मुताबिक पूर्वी घोउटा के विद्रोहियों के कब्जे वाले इलाके में सीरियाई शासन के ताजा हवाई हमलों में कल से कम से कम 80 लोग मारे गए हैं.

वहीं, सीरिया की सरकारी मीडिया और सीरियाई शासन के सहयोगी रूस ने रसायनिक हथियारों के इस्तेमाल के दावों की निंदा करते हुए इसे मनगढंत बताया. इस बीच, शीर्ष अमेरिकी सीनेटर लिंडसे ग्राहम ने कहा कि सीरियाई रसायनिक हमला ट्रंप के लिए एक निर्णायक घड़ी है.

विद्रोहियों के कब्जे वाले इलाके में हेलीकॉप्टर से रासायनिक हमला
सीरिया के पूर्वी गोता के विद्रोहियों के कब्जे वाले अंतिम शहर डौमा में हुए संदिग्ध रासायनिक हमले में कम से कम 70 लोग मारे गए. चिकित्सकों और बचाव कर्मियों ने रविवार (8 अप्रैल) को यह जानकारी दी. बीबीसी के मुताबिक, स्वयंसेवी बचाव दल व्हाइट हेलमेट्स ने ग्राफिक तस्वीरें पोस्ट कीं, जिसमें शनिवार (7 अप्रैल) को हुए हमले के बाद बेसमेंट में पड़े कई शव नजर आ रहे हैं. इसमें कहा गया कि मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका है.

80 लोगों की मौत की पुष्टि
सीरियाई अस्पतालों के साथ काम करने वाली एक अमेरिकी चैरिटी संस्था यूनियन मेडिकल रिलीफ ने बीबीसी को बताया कि दमिश्क रूरल स्पेशलिटी हॉस्पिटल ने 80 लोगों की मौत की पुष्टि की है. सीरियाई सरकार ने इन आरोपों से इनकार किया है. सराकरी एजेंसी सना ने एक आधिकारिक सूत्र के हवाले से बताया कि आतंकवादियों के गढ़ में उनसे निपटने के लिए आगे बढ़ रही सेना के अभियान में बड़ी बाधा डालने की खबरें मिली हैं.

सरीन नर्व एजेंट रसायन का हुआ इस्तेमाल
सना ने कहा कि सीरियाई अरब सेना को किसी रासायनिक चीज का इस्तेमाल करने की जरूरत नहीं है, जैसा कि आतंकवादियों के मीडिया सहयोगियों द्वारा दावा किया गया है. कथित हमलों पर प्रतिक्रिया में अमेरिकी विदेश विभाग के एक अधिकारी ने कहा, “हमने कई परेशान कर देने वाली रिपोर्ट देखी, सीरियाई सरकार का अपने लोगों के खिलाफ रासायनिक हथियारों को इस्तेमाल करने का इतिहास रहा है…” सरीन नर्व एजेंट का इस्तेमाल सीरिया में पहले भी हो चुका है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here