वाराणसी: चारों तरफ चीख पुकार, कम से कम 50 लोगों के दबे होने की आशंका

0
41

वाराणसी: वाराणसी में एक निर्माणाधीन फ्लाईओवर के गिर जाने से कई लोगों के मलबे में दबे होने की खबर है. कैंट स्टेशन के पास गिरा निर्माणाधीन फ्लाईओवर. फ्लाईओवर का एक पिलर गिर जाने की वजह से यह हादसा हुआ है. मलबे के नीचे कई गाड़ियों के दबे होने की खबर है. प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक कम से कम दर्जन भर गाड़ियां चपेट में आई है. कैंट स्टेशन इलाका भीड़भाड़ वाला इलाका है. मौके पर पुलिस और प्रशासन के तमाम अधिकारी पहुंच चुके हैं. रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है. इस हादसे में कम से कम 12 लोगों के मारे जाने की खबर है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाराणसी हादसे पर दुख जताया. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि मैं प्रार्थना करता हूं कि जख्मी लोग जल्द से जल्द ठीक हो जाएं. अधिकारियों से बात की और उन्हें निर्देश दिया है कि वहां जल्द जल्द से जरूरी मदद पहुंचाएं.

एक चश्मदीद ने बताया कि मैं फ्लाईओवर से करीब 50 मीटर की दूरी पर खड़ा था. मैंने देखा कि पुल के नीचे चार कार, एक ऑटो रिक्शा और एक मिनी बस खड़ी थी जो मलबे के नीचे दब गए. उन्होंने कहा कि मौके पर रेस्क्यू टीम करीब एक घंटे बाद पहुंची.

यूपी सरकार में कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा सीएम योगी आदित्यनाथ ने डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और नीलकंठ तिवारी को वाराणसी के लिए रवाना किया है.

एक बस के भी दबे जाने की खबर है. बस में 50 से ज्यादा यात्री सवार थे. स्थानीय लोगों के मुताबिक इस हादसे में कम से कम 50 लोग दबे होंगे. मौके पर चीख पुकार मची हुई है. वहां की स्थिति बहुत ज्यादा खतरनाक है.

बड़ा सवाल उठता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र में एक फ्लाईओवर का निर्माण किया जाता है और कमजोर क्वालिटी की वजह से वह बनने से पहले ही गिर जाता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here