एबीबी टेक्नोलॉजी वेंचर्स ने स्टेलऐप्स टेक्नोलॉजी से मिलाया हाथ

0
105

बेंगलुरु: एबीबी ने अपनी वेंचर कैपिटल यूनिट एबीबी टेक्नोलॉजी के जरिये स्टेलऐप्स टेक्नोलॉजी में निवेश किया है. सीरीज बी निवेश की अगुआई इंडसऐज पार्टनर द्वारा की गई. इसमें नए निवेशक क्वॉलकॉम वेंचर्स और द बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन भी शामिल है. स्टेलऐप्स भारत की पहली डेयरी चेन समाधान कंपनी है. 750,000 किसान प्रतिदिन इससे लेनदेन करते हैं. 2011 में स्थापित बेंगलुरु का यह स्टार्टअप एक ऐसा ऑटोमेटिड टूल बना रहा है जो इंटरनेट ऑफ थिंग्स (आईओटी) पर कार्य करता है और देश के डेयरी फॉर्म, कलेक्शन सेंटर की गुणवत्ता बढ़ाता है. यह एबीबी टेक्नोलॉजी वेंचर्स का भारत में पहला निवेश है.

स्टेलऐप्स का मूलभूत आधार SmartMoo है. यह ऐसा विश्लेषकी समाधान है जो दुग्ध उत्पादन से लेकर किसानों तक से जुड़े मुद्दे कवर करता है. SmartMoo मवेशियों के स्वास्थ्य के ट्रैक कर सकता है. यह दूध को किन परिस्थितियों में स्टोर किया जा रहा है, कैसे उसका परिवहन किया जाता है और कैसे वितरित किया जाता है, इसको भी ट्रैक कर सकता है.

भारत का डेयरी मार्केट 70 बिलियन डॉलर का है. ऐसे में स्टेलऐप्स का प्रयास बहुत ही महत्वपूर्ण है क्योंकि यह सप्लाई चेन के कई कारकों को जोड़ता है. स्टेलऐप्स के माध्यम से कम वॉल्यूम वाले किसान दूध की गुणवत्ता और मात्रा बढ़ाने के लिए इस नि:शुल्क प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल कर रहे हैं. उत्पादकता और आमदनी बढ़ाने के लिए यह तत्काल फीडबैक देता है. भारतीय डेयरी उद्योग की अन्य आवश्यकताओं जैसे इन्वेंट्री प्रबंधन, खाद्य पदार्थों को सुधारते हैं. इक्विटी निवेश के अलावा, स्टेलऐप्स ने अलग से एबीबी से कलैबरैशन किया है जिससे भारतीय ग्राहकों को डिजिटल प्लेटफॉर्म प्रदान किया जा सके.

एबीबी टेक्नोलॉजी वेंचर्स के प्रबंध निदेशक ग्रांट ऐलन का कहना है, “हमारा मानना है कि उनकी तकनीकी का भारत के डेयरी उद्योग पर प्रभाव पड़ेगा. खासकरके कई डेयरी किसान छोटे, घरेलू उद्योग चला रहे हैं. स्टेपऐप्स से भागीदारी करके एबीबी को डिजिटल डेयरी को समाधान प्रदान करना है.”

स्टेपऐप्स के सीईओ राजनाथ मुकंदन का कहना है, “स्टेपऐप्स लगातार वृद्धि की स्थिति में प्रवेश कर रही है और यह निवेश भागीदार हमारे तकनीकी प्लेटफॉर्म के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण हैं. हम एबीबी टेक्नोलॉजी वेंचर्स के साथ भागीदारी करके रोमांचित हैं. हम भोजन एवं पेय पदार्थों में एबीबी की विशेषज्ञता और इंडस्ट्रियल ऑटोमेशन समाधान का इस्तेमाल कर सकते हैं.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here