lअब ट्रेन के AC डिब्बों में ऊनी की जगह मिलेंगे ये नए कंबल, महीने में दो बार होगी धुलाई

0
143

नई दिल्लीः साल 2017 में आई पिछले दिनों कैग की रिपोर्ट में भारतीय रेलवे की कई कमियों की ओर इशारा किया गया था. इनमें मुख्य थी खाने की खराब क्वालिटी और कंबलों का गंदा होना. जाहिर है आप भी इनसे परेशान होते होंगे. सफर के दौरान ऐसे कंबलों को ओढ़ना मुश्किल होता है. कंबल हमें एसी कोच में ही मिलते हैं. मतलब ज्यादा किराया देने के बाद भी हमें अच्छी सुविधा नहीं मिल पाती है. कैग ने तो यहां तक कहा है कि कई रेल मंडलों में यह कंबल छह माह से नहीं धुले मिले. अब रेलवे ने इस समस्या के समाधान के लिए कदम उठाने का फैसला किया है. ट्रेनों में कंबलों के गंदे होने की शिकायतों से परेशान भारतीय रेलवे ने कंबलों के ज्यादा बार धुलने और मौजूदा कंबलों को चरणबद्ध तरीके से बदलने की योजना तैयार की है.

रेलवे बोर्ड ने एक आदेश में कहा है कि ट्रेनों के एसी डिब्बों में ऊनी कंबलों की जगह अच्छी गुणवत्ता वाले नायलान के कंबल मिलेंगे. आदेश में जोनों को इन कंबलों को हर दो महीनों में एक बार की जगह एक महीने में दो बार धोने का निर्देश भी दिया गया. रेलवे बोर्ड द्वारा जारी संशोधित आदेश के अनुसार , एसी डिब्बों में यात्रियों को दिये जाने वाले कंबल साफ सुथरे तथा ग्रीस , साबुन या किसी अन्य चीज से मुक्त होने चाहिये ताकि वे कड़क रह सकें.

450 ग्राम वाले नये कंबल 60 प्रतिशत ऊनी और 15 प्रतिशत नायलान के बने होंगे. रेलवे बोर्ड ने एसी डिब्बों के लिये उच्च गुणवत्ता वाले हल्के कंबल को हरी झंडी दिखाई है. फिलहाल 2.2 किलोग्राम वजन वाले कंबल छोटे आकार के हैं और इन्हें चार साल तक प्रयोग किया जाता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here