MP के दतिया से गिरफ्तार हुआ यमुना प्राधिकरण का पूर्व CEO, 126 करोड़ के घोटाले का आरोप

0
62

नई दिल्ली/नोएडा/दतिया: यमुना विकास प्राधिकरण के पूर्व सीईओ पीसी गुप्ता को मध्य प्रदेश के दतिया जिले से गिरफ्तार कर लिया गया है. पीसी गुप्ता की गिरफ्तारी मध्य प्रदेशके दतिया के पीतांबरा पीठ मंदिर के पास से हुई है. जानकारी के मुताबिक, आरोपी पीसी गुप्ता तांत्रिक पूजा करवाने के लिए पीतांबरा पीठ मंदिर गए थे. फिलहाल, यूपी पुलिस पीसी गुप्ता को अपने साथ गौतमबुद्धनगर लेकर आ गई है. जहां, अब उनसे आगे की पूछताछ की जाएगी. आपको बता दें कि यमुना विकास प्राधिकरण में तैनात पुलिस निरीक्षक ने पीसी गुप्ता और तहसीलदारों समेत 22 लोगों के खिलाफ केस दर्ज कराया है. जिनके ऊपर 126 करोड़ के घोटाले में शामिल होने का आरोप है.

पीसी गुप्ता पर क्या है आरोप
पीपी गुप्ता पर आरोप है कि उन्होंने मथुरा के सात गांवों की 97 हेक्टेयर जमीन अपने रिश्तेदारों के साथ मिलकर खरीदी और जरुरत नहीं होने के बावजूद जमीन को बाजार भाव से दोगुने रेट पर प्राधिकरण के जरिए अधिकृत करवाया, जिसमें प्राधिकरण को 126 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ.

कहां-कहां थी ये जमीन
प्राधिकरण ने ये जमीन मथुरा क्षेत्र मादौर, सेऊपट्टी खादर, सेऊपट्टी बांगर, कोलाना बांगर, कोलाना खादर, सोतीपुर बांगर, नौहझील बांगर में रैंप बनाने और किसानों को सात फीसद भूखंड देने के नाम पर खरीदी थी. ये जमीन एक्सप्रेस से काफी दूर थी, इसलिए न तो इस जमीन पर रैंप का निर्माण हो सका और न ही किसानों को विकसित भूखंड दिए जा सके. ये जमीन एक साथ न होकर जगह-जगह टुकड़ों में बंटी थी.

दतिया के पीताम्‍बरा माता मंदिर से हुई गिरफ्तारी
पीसी गुप्ता को दतिया में पीताम्बरा माता मंदिर के बाहर से गिरफ्तार किया गया है. इस मंदिर की मान्‍यता है कि यहां जो भी मुराद मांगी जाती है वो पूरी होती है. पुलिस ने पीसी गुप्‍ता को मंदिर के दर्शन करने से पहले ही गिरफ्तार कर लिया. बताया जा रहा है कि वो यहां तांत्रिक पूजा करवाने के लिए आए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here