नाबालिग को दोहरा दर्द: रेप के बाद बनी बिनब्याही मां, परिवार ने बच्ची को अपनाने से किया इनकार

0
51

रामप्रसाद मेहता, बारां: राजस्थान के बारां जिले में बलात्कार पीड़ित एक नाबालिग लड़की बिनब्याही मां बन गई, उसने एक बच्ची को जन्म दिया है. यही नहीं अब वह नाबालिग मां जो खुद बलात्कार की पीड़िता भी है और उसके परिजनों ने नवजात मासूम बच्ची को अपनाने से इनकार कर दिया. उनकी शिकायत पर दुष्कर्म के आरोपी के खिलाफ पोक्सो एक्ट सहित कई धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. पुलिस ने प्रकरण बाल कल्याण समिति के समक्ष पेश किया. समिति ने नवजात बालिका को कोटा के नान्ता स्थित शिशु गृह में रखने का निर्णय किया है.

आरोपी के खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा
नाहरगढ़ थाना प्रभारी हरिप्रसाद ने जी मीडिया को बताया कि पीड़ित किशोरी को पेट दर्द की शिकायत होने पर परिजनों ने केलवाड़ा के निजी चिकित्सालय में भर्ती कराया था. जहां पर नाबालिग ने एक बच्ची को जन्म दिया. इस मामले में नाबालिग के पिता ने गांव के ही रामेश्वर अहेड़ी के खिलाफ पोस्को सहित कई धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है.

जान से मारने की धमकी देकर करता था बलात्कार
पीड़िता के बयान से पता चलता है कि घटना के समय नाबालिग घर पर अकेली थी. परिजन बाहर गए हुए थे. उसी समय आरोपी ने घर पहुंचकर उसके साथ दुष्कर्म किया. उसके बाद भी आरोपी मौका पाकर पीड़िता के साथ दुष्कर्म करता रहता था और उसके बारे में किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी देता रहता था. थाना प्रभारी नाहरगढ़ के मुताबिक पुलिस में शिकायत दर्ज होने के बाद जिला चिकित्सालय में नाबालिग का मेडिकल कराया गया और पीड़िता व नवजात को बाल कल्याण समिति के समक्ष पेश किया गया. अब न्यायालय में बयान दर्ज कराए जाएंगे.

राजकीय शिशु गृह में रहेगी नवजात
बाल कल्याण समिति सदस्य शैलेश मेहता ने जी मीडिया को बताया कि पुलिस की ओर से प्रकरण पेश करने पर काउंसलिंग की गई तथा पीड़िता के बयान दर्ज किए गए. इसमें पीड़िता व उसके परिजनों ने नवजात बालिका को रखने से मना कर दिया तथा समिति को समर्पित करने की बात कही है. राजकीय चिकित्सालय में नवजात का स्वास्थ्य परीक्षण कराया गया. फिलहाल समिति ने नवजात बालिका को कोटा स्थित राजकीय शिशु गृह में रखने का निर्णय किया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here