हनुमा विहारी के 147 रन और पृथ्वी शॉ के शतक से फाइनल में पहुंचा इंडिया ए

0
98

नॉर्थम्प्टन हनुमा विहारी (147) और पृथ्वी शॉ (102) के शतकों के बाद अक्षर पटेल के चार विकेट के दम पर भारत ए ने तीन देशों की एकदिवसीय टूर्नामेंट में आज वेस्टइंडीज ए को 203 रन से मात देकर फाइनल में जगह पक्की कर ली. फाइनल में भारत ए का सामना इंग्लैंड लायन्स से होगा. भारत के 50 ओवर में छह विकेट पर 354 रन बनाने के बाद वेस्टइंडीज की पारी को 37.4 ओवर में 151 रन पर समेट दिया. अक्षर पटेल ने 34 रन देकर चार विकेट लिये, जबकि दीपक चाहर को दो सफलता मिली.

इससे पहले टास जीत कर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम को चौथे ओवर में दोहरा झटका लगा. चेमार होल्डर (70 रन पर तीन विकेट) ने तीन गेंद के भीतर सलामी बल्लेबाज ऋषभ पंत (05) और कप्तान श्रेयस अय्यर (00) को पवेलियन की राह दिखा दी. इसके बाद साव और विहारी की 160 रन की साझेदारी को भी होल्डर ने ही तोड़ा. साव ने 90 गेंद की पारी में 16 चौके की मदद से 102 रन बनाये. विहारी पारी की आखिरी गेंद पर रन आउट हुए. उन्होंने 131 गेंद की पारी में पांच छक्के और 13 चैके लगाए.

साव के आउट होने के बाद दीपक हुड्डा (21), विजय शंकर (28) और इशान किशन ( नाबाद 21) ने विहारी का अच्छे से साथ दिया. इशान ने 16 गेंद की नाबाद पारी में तीन चौके लगाए. वेस्टइंडीज की ओर से चंद्रपाल हेमराज से 46 गेंद में सबसे ज्यादा 43 रन बनाए.

इंडिया ए का शानदार प्रदर्शन रहा सीरीज में अब तक 
गौरतलब है कि इस सीरीज में श्रेयस अय्यर की कप्तानी में इंडिया ए का प्रर्दशन काफी शानदार रहा है. पहले ही मैच में इंग्लैंड लॉयन्स से सात विकेट से हार के बाद भारतीय टीम ने पहले वेस्टइंडीज ए को सात विकेट से हराया और उसके बाद मेजबान इंग्लैंड लॉयन्स को 102 रनों से हराया. शुक्रवार के मैच में एक बार फिर वेस्टइंडीज को हराने के बाद अब फाइनल में उसका मुकाबला इंग्लैंड लॉयन्स से लंदन को केनिंग्टन ओवल के मैदान पर होगा. इस सीरीज में मयंक अग्रवाल और पृथ्वी शॉ का प्रदर्शन काफी शानदार रहा है. वहीं गेंदबाजी में दीपक चाहर और शार्दुल ठाकुर ने खासा प्रभावित किया है. दीपक चाहर तो वेस्टइंडीज ए के खिलाफ 5 विकेट भी ले चुके हैं.

इस सीरीज में इंडिया ए और इंग्लैंड लॉयन्स के छह छह अंक रहे थे दोनों ही टीमों ने तीन मैच जीत कर एक मैच में हार का सामना किया है. वहीं वेस्टइंडीज ए अपने चार मैचों एक भी मैच जीत नहीं सका. उसे इडिया ए और इंग्लैंड लॉयन्स दोनों ने ही दो दो बार हराया. टीम इंडिया ए का रनरेट +1.688 रहा और इंग्लैंड लॉयन्स का रनरेट +0.868 रहा जिसकी वजह से इंडिया ए शीर्ष पर रहने में कामयाब हो सका.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here