यूपी-बिहार: एयरपोर्ट विस्‍तार का प्रोजेक्‍ट अधर में, ये हैं प्रमुख कारण

0
150

नई दिल्‍ली: छह राज्‍यों के अंतर्गत आने वाले सात एयरपोर्ट के विस्‍तार का काम अधर में है. दरअसल, इन एयरपोर्ट के विस्‍तार को लेकर अभी तक विभागीय क्‍लीयरेंस नहीं मिली है. जिसके चलते इन एयरपोर्ट के विस्‍तार का कार्य लटका हुआ है. अभी तक यह स्‍पष्‍ट नहीं है कि इन एयरपोर्ट को लेकर विभागीय स्‍वीकृति मिलने में अभी कितना समय लगेगा. विमानन मंत्रालय के वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार संबंधित विभाग से आवश्‍यक स्‍वीकृति मिलने के बाद ही इन एयरपोर्ट के विस्‍तार का कार्य शुरू किया जाएगा.

अधर में है इन एयरपोर्ट के विस्‍तार का कार्य
मंत्रालय के वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एएआई) ने छह राज्‍यों के सात एयरपोर्ट के विस्‍तार की योजना तैयार की है. इन एयरपोर्ट में उत्‍तर प्रदेश का आगरा और लखनऊ एयरपोर्ट शामिल है. एएआई ने  उत्‍तर प्रदेश के इन दो एयरपोर्ट के साथ महाराष्‍ट्र के पुणे, बिहार के पटना, उत्‍तराखंड के देहरादून, मध्‍य प्रदेश के जबलपुर और तमिलनाडु के तिरुचिरापल्‍ली एयरपोर्ट के विस्‍तार का प्‍लान तैयार किया था. प्‍लान के तहत, इन एयरपोर्ट के टर्मिनल की यात्री क्षमता और सुविधाओं का विस्‍तार किया जाना था.

एएआई की तैयारियां हुई पूरी
इसके अलावा, कुछ एयरपोर्ट के एयर साइट पर टैक्‍सी-वे और अतिरिक्‍त रन-वे का निर्माण भी किया जाना है. एएआई ने अपनी तरफ से इन एयरपोर्ट के विस्‍तार का डीटेल प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट तैयार कर लिया है. इसके साथ, ही, इस बात का भी आंकलन कर लिया गया है कि विस्‍तार के लिए किस जगह पर कितनी जमीन सहित दूसरे संसाधनों की आवश्‍यकता होगी. एएआई के सूत्रों के अनुसार, उनके तरफ से सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. विस्‍तार के लिए आवश्‍यक धन भी उपलब्‍ध करा दिया गया है. अब जैसे ही उन्‍हें, पर्यावरण विभाग से स्‍वीकृति मिलती है, विस्‍तार का कार्य शुरू कर दिया जाएगा.

मंत्रालय ने कहा, पर्यावरण विभाग को भेज दी है फाइल
विमानन राज्‍य मंत्री जयंत सिन्‍हा ने लोकसभा में इस बयान दिया है कि एएआई ने पुणे, तिरुचिरापल्‍ली, पटना, आगरा, देहरादून, लखनऊ और जबलपुर एयरपोर्ट के लिए पर्यावरण संबंधी क्‍लीयरेंस के लिए आवेदन किया है. एएआई ने सार्वजनिक सुनवाई के लिए संबंधित प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के समक्ष पर्यारण संबंध प्रभाव मूल्‍यांकन रिपोर्ट प्रस्‍तुत कर दी है.

एयरपोर्ट विस्‍तार में खर्च होगा 20 हजार करोड़ रुपए 
एक वरिष्‍ठ अधिकारी ने बताया कि भविष्‍य में या‍त्री संख्‍या में होने वाले विस्‍तार को देखते हुए मंत्रालय ने नेक्‍स्‍ट जनरेशनल एयरपोर्ट ऑफ भारत (नभ) योजना तैयार की है. जिसके तहत, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया एयरपोर्ट विस्‍तार के लिए 20 हजार करोड़ रुपए का निवेश करेंगी. यह कार्य आगामी चार से पांच सालों में पूरा किया जाना है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here