दिल्ली में खतरे के निशान से ऊपर बह रही है यमुना, सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाए गए 100 लोग

0
126

नई दिल्ली : दो दिनों की बारिश और हथनीकुंड से पानी छोड़े जाने के बाद दिल्ली में यमुना नदी का जलस्तर शनिवार को खतरे के निशान से ऊपर पहुंच गया है. यमुना नदी में खतरे का निशान 204 मीटर है, लेकिन अब इसका पानी 204.1 मीटर पर बह रहा है. हरियाणा के हथनी कुंड बैरक से पानी छोड़े जाने के कारण यमुना के जलस्तर में इजाफा हुआ है. यमुना में बढ़े जलस्तर के बाद दिल्ली सरकार की ओर से अलर्ट भी जारी कर दिया है. वहीं,  यमुना में जलस्तर बढ़ने के बाद प्रशासन सतर्क हो गया है, नीचले इलाकों में पानी न भरे इसके लिए पहले से ही काम किया जा रहा है.

सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाए गए 100 लोग
यमुना में जलस्तर बढ़ने के बाद पूर्वी दिल्ली के डीएम के. महेश ने कहा, ‘सभी एग्जिक्युटिव इंजीनियर्स और सेक्टर ऑफिसर्स को कंट्रोल रूम के संपर्क में रहने को कहा गया है. दिल्ली सरकार के सिंचाई एवं बाढ़ नियंत्रण विभाग ने निचले इलाकों में रह रहे 100 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के लिए तैयारियां की है. पूर्वी दिल्ली जिला प्रशासन ने एक बयान जारी कर कहा है कि दिल्ली ओल्ड रेलवे ब्रिज पर यमुना का जलस्तर 27 जुलाई को शाम सात बजे 204. 10 मीटर पहुंच गया और जलस्तर में वृद्धि हो रही है.

त्वरित प्रतिक्रिया टीम के तहत हमारे लोग तैनात हैं और आज सेवा में वाहन तथा तीन नौकाओं को लगाया गया है. बता दें कि, 2013 में हुए एक सर्वे में यह बात सामने निकलकर आई थी कि पूर्वी दिल्ली में ही यमुना किनारे करीब 12,000 ऐसे किसान रहते हैं, जो सब्जी उगाने का काम करते हैं. रिपोर्ट में यह बात भी सामने आई थी कि सब्जी उगाने से ही इन किसानों का गुजारा होता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here