देवासः ईद के मौके पर बच्चों ने दी कुर्बानी, केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए दान की ईदी

0
131

नई दिल्लीः देवास जिले के सोनकच्छ में मुस्लिम समाज के बच्चों ने एक अलग मिसाल पेश की. यहां के बच्चों ने ईद उल जुहा के मौके पर बड़ों से मिलने वाली ईदी केरल बाढ़ पीड़ितों को दान कर दी. बच्चों का ऐसा जज्बा देखकर हर हर कोई हैरान है कि आखिर इतने छोटे बच्चों में इतनी समझदारी कहां से आई. यहां बच्चों ने मस्जिद में नमाज पढ़ने के बाद बड़ों से मिली ईदी इकट्ठी की और इनसे खिलौने, टॉफी और कपड़े खरीदने के बजाय SDM दफ्तर पहुंचे और पूरी राशि SDM नीता राठौर को केरल बाढ़ पीड़ित कोष के लिए दे दिये. बता दें केरल में आई तबाही के नजारे देखकर देश के हर हिस्से से लोग आगे बढ़कर उनकी सहायता के लिए आगे आए हैं. ऐसे में इन बच्चों ने भी केरल में बाढ़ की मार झेल रहे लोगों की मदद कर एक अलग ही मिसाल पेश की है.

बच्चों ने 2700 की रकम केरल बाढ़ पीड़ितों को दान की
ये बच्चे हैं सोनकच्छ के वार्ड क्रमांक 15 में रहने वाले फैजल कुरैशी, फरदीन, जुनैद, अल्फिया, और उनसा जिन्होंने आज छोटी सी उम्र में ईद के मौके पर वाकई बड़ी कुर्बानी दी है. इन बच्चों ने 2700 की रकम इकट्ठा की और केरल बाढ़ पीड़ितों को दान कर दी. बच्चों का कहना था कि, आज ईद के मौके पर हमें जो रुपए मिले थे उन्हें हमने केरल में जो लोग परेशानी झेल रहे हैं, उन्हें दिए हैं. हम मालिक से भी दुआ करते हैं कि वे उनके खाने व पानी पीने की व्यवस्था करें और उन्हें सुकून बख्शें.

उस चीज का त्याग करें जो आपको सबसे ज्यादा प्रिय है
वहीं एसडीएम ने भी कहा कि, इतनी छोटी सी उम्र में बच्चों को दूसरों की मदद करने का यह जज्बा वाकई अद्भुत है. ईद उल जुहा का मतलब भी यही है कि आज के दिन आप उस चीज का त्याग करें जो आपको सबसे ज्यादा प्रिय है. ऐसे में बच्चों ने वह दान किया है जिससे वह अपनी प्रिय चीजें पा सकते थे. इन बच्चों को ईद पर जो रुपए मिले उन्होंने सेवा के कार्य में समर्पित कर दिया. बच्चों का मानव सेवा भाव देखकर स्कूल समय की हामिद के चिमटे वाली कहानी याद आ गई, हमीद ने भी अपनी ईदी के रुपये से अपनी दादी के लिए चिमटा खरीदा था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here