भारतीय मूल के प्रोफेसर को ल्यूपस के संबंध में खोज करने पर मिले 20 लाख रुपए

0
121

ह्यूस्टनः भारतीय मूल के प्रोफेसर चंद्र मोहन और ह्यूस्टन विश्वविद्यालय के उनके दो सहकर्मियों ह्यूग रोय और लिली क्रान्ज को पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं में ‘ल्यूपस’ के अधिक होने के संबंध में खोज करने के लिए ‘नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ’ की ओर से 20लाख रुपए का अनुदान दिया गया है. ल्यूपस एक ऐसी बीमारी है, जिसमें त्वचा पर सूजन आ जाती है और प्रतिरोधक क्षमता अपने ही स्वस्थ ऊतकों पर हमला कर देती है.

मोहन अब आणविक तंत्र का अध्ययन करेंगे
मोहन ने कहा, “बैंक 1’ महिलाओं और पुरुषों दोनों में मौजूद होता है लेकिन महिलाओं पर इसका असर अधिक खतरनाक होता है क्योंकि बैंक1 जीन और मादा हार्मोन एक साथ काम करते हैं और बीमारी पैदा करने वाले ऑटो एंटीबॉडी को बनाते हैं.” आनुवांशिक अध्ययनों में ल्यूपस से जुड़े कई जीन की पहचान हुई, लेकिन यह काम कैसे करते हैं यह अब भी स्पष्ट नहीं हो पाया है. इनमें से एक जीन बैंक 1 है. मोहन अब आणविक तंत्र का अध्ययन करेंगे.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here