बिना बॉयफ्रेंड-गर्लफ्रेंड के यूनिवर्सिटी कैंपस में नहीं मिलेगी एंट्री, स्टूडेंट ने जारी किया फर्जी फरमान, फिर…

0
133

नई दिल्ली : चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के सीयू मैनेजमेंट का एक लैटर इन दिनों सोशल मीडिया पर काफी सुर्खियां बंटोर रहा है. सुर्खियों में आए इस लैटर की कहानी बड़ी ही दिलचस्प है. दरअसल इस लैटर में लिखा गया है कि 13 अगस्त के बाद यूनिवर्सिटी में बॉयफ्रेंड और गर्लफ्रेंड के साथ आना आवश्यक होगा. अगर कोई इस नियम को नहीं मानता है तो उसके खिलाफ न सिर्फ कार्रवाई की जाएगी, बल्कि जुर्माना भी लगाया जा सकता है.

यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट ने ही बनाया था फर्जी लैटर
सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस लैटर की जानकारी जब यूनिवर्सिटी प्रशासन को लगी तो उन्होंने की इसकी जांच की और तब पता चला कि यह फर्जी है. यूनिवर्सिटी के ही एक छात्र ने फर्जी लैटर टाइप कर सोशल मीडिया पर वारयल किया था. मैनेजमेंट ने छात्र का पता चलते ही उसे कॉलेज से निकाल दिया.

क्या लिखा था लैटर में…
यूनिवर्सिटी के डायरेक्टर स्टूडेंट वेलफेयर अरविंदर सिंह कंग के नाम पर सीयू के लेटर हेड पर एक छात्र ने फर्जी लैटर सोशल मीडिया पर डाला था. लैटर में लिखा गया था कि 13 अगस्त के बाद कैंपस में हर छात्र का बॉयफ्रेंड या गर्लफ्रेंड के साथ आना अनिवार्य होगा. इसके साथ ही लिखा गया था कि अगर 13 अगस्त के बाद कोई छात्र बिना बॉयफ्रेंड या गर्लफ्रेंड के साथ देखा गया तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी और 1 हजार रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा.

एक स्टूडेंट पर एक ही गर्लफ्रेंड
दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के मुताबिक, लैटर में आगे लिखा गया था कि सभी छात्रों को इस बात का ध्यान रखना होगा कि एक छात्र को एक ही गर्लफ्रेंड या बॉयफ्रेंड रखने की इजाजत होगी. सोशल मीडिया पर लेटर के वायरल होने के बाद छात्रों में अफरा-तफरी मच गई. इसके बाद उन्होंने यूनिवर्सिटी प्रशासन को इसकी जानकारी दी. छात्रों से जानकारी मिलने के बाद तुरंत एक्शन में आए प्रशासन ने इसकी जानकारी जुटाई और छात्रों को बाहर निकाला. हालांकि अब तक इस बात की जानकारी नहीं मिल पाई है कि आखिरकार छात्र ने ऐसा फर्जी लेटर क्यों बनाया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here